• fff
महेश्वर जलविद्युत परियोजना

परियोजना की विशिष्टताएँ

महेश्वर जलविद्युत परियोजना, ओंकारेश्वर बहुउद्देशीय परियोजना से लगभग 40 किमी अनुप्रवाह पर मध्य प्रदेश के खरगोन जिले में मंडलेश्वर के निकट मुख्य नर्मदा नदी पर स्थित है । इस परियोजना के अन्तर्गत 35 मीटर ऊँचाई का एवं 10475 मीटर लम्बा कांक्रीट बाँध एवं दाँये किनारे पर स्थित तटबंध सहित इसके उत्प्लाव की लम्बाई क्रमश: 1554 मीटर एवं 492 मीटर है एवं दाँये तट पर 400 मेगावॉट की कुल स्थापित विद्युत क्षमता (40 मेगावॉट विद्युत क्षमता की 10 यूनिटें) का एक सतह जल विद्युत गृह बनाना प्रस्तावित है । परियोजना के लिए जनवरी, 1994 में भारत-सरकार के पर्यावरण एवं वन मंत्रालय की स्वीकृति तथा केन्द्रीय विद्युत परियोजना की तकनीकी आर्थिक स्वीकृति प्राप्त कर लिए जाने के पश्चात इस परियोजना को पूर्ण किए जाने के कार्य श्री महेश्वर जलविद्युत निगम लिमिटेड नामक निजी कम्पनी को सौंप दिए गए । इसके लिए नवम्बर, 1994 में मध्य प्रदेश विद्युत मण्डल द्वारा एक विद्युत क्रय समझौते पर हस्ताक्षर किए गए । दिसम्बर, 1996 में परियोजना के पूर्व की प्राक्कलन राशि रू 465.63 क़रोड़ को संशोधित कर रू 1569 क़रोड़ ऑंकी गई है । वर्ष 2006 के मूल्य स्तर पर किए मूल्यांकन पर परियोजना की कुल लागत रू 2760 करोड़ ऑंकी गई थी

कार्यों की प्रगति

वर्ष 1997 में निविदा के माध्यम से बाँध एवं विद्युत गृह से संबंधित निर्माण कार्य रू 275.62 क़रोड़ की लागत पर मेसर्स एस.ई.ड़ब्ल्यू. कन्स्ट्रक्शन लिमिटेड को आवंटित किए गए थे । परियोजना के कार्य श्री महेश्वर जलविद्युत निगत लिमिटेड द्वारा लिए जाने के पश्चात बाँध एवं विद्युत गृह के निर्माण कार्य आरम्भ कर दिए गए थे । परन्तु अगस्त, 2001 से उक्त कार्य स्थगित कर दिए गए थे । वर्ष 2005 में वित्तीय संस्थान के साथ वित्तीय सहबद्धता पूर्ण कर लेने के पश्चात महेश्वर परियोजना के कार्य नवम्बर, 2005 से पुन: आरम्भ कर दिए गए । पी.एफ.सी. आर.ई.सी. तथा हुड़को के साथ संयुक्त ऋण समझौता कर हस्ताक्षर कर लिए जाने के पश्चात दिनांक 29 सितम्बर, 2006 को परियोजना का वित्तीय समापन कर लिया गया था । वित्तीय समापन प्राप्त कर लिए जाने के पश्चात दिनांक 29 सितम्बर, 2006 को परियोजना का वित्तीय समापन कर लिया गया था । वित्तीय समापन प्राप्त कर लिए जाने के पश्चात दिसम्बर, 2006 में 400 करोड़ के पूर्णत: परिवर्तनीय ऋण पत्र लाए गए मार्च, 2009 तक बाँध एवं विद्युत गृह खण्ड में 17401 लाख घन मीटर खुदाई के कार्य तथा 7815 लाख घनमीटर कांक्रीटिंग के कार्य पूर्ण कर लिए गए थे । मार्च, 2009 तक उत्प्लाव (स्पिलवे) के सभी 30 खण्डों में भी कांक्रीटिंग में कार्य किए जा रहे थे तथा लगभग 955 प्रतिशत कांक्रीटिंग के कार्य पूर्ण कर लिए गए तथा विद्युत ऊर्जा बाँध (पॉवर डेम) के 10 खण्डों में भी कांक्रीटिंग के कार्य आरम्भ कर दिए गए तथा मार्च, 2009 तक 939 प्रतिशत कांक्रीटिंग के कार्य पूर्ण कर लिए गए थे । मार्च, 2009 तक इस परियोजना पर रू 2002.79 क़रोड़ व्यय किए जा चुके हैं, जिनमें से वर्ष 2008-09 के दौरान रू 601.97 क़रोड़ व्यय हुए ।

 
 
    सभी अधिकार सुरक्षित मुख पृष्ठ| हमारे बारे में| निविदायें | आपकी राय | अन्य लिंक साईट | रिक्तियां| अस्वीकरण